भारत के प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग

♦ भारत की सड़क प्रणाली विश्व की द्वितीय विशालतम प्रणाली मानी गयी है, जिसकी कुल लम्बाई 48.65 लाख कि.मी. है।

♦ केंद्रीय सड़क निधि का गठन 1929 में तथा सीमा सड़क संगठन की स्थापना 1960 में हुई। एवं भारतीय पर्यटन विकास निगम (ITDC) का गठन अक्टूबर, 1966 ई. में किया गया।

♦ राष्ट्रीय राजमार्ग 44 (National Highway 44, NH 44) भारत का सबसे लम्बा राष्ट्रीय राजमार्ग बन गया है। यह उत्तर में श्रीनगर से आरम्भ होकर दक्षिण में कन्याकुमारी में समाप्त होता है। इससे पहले भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग NH-7 था, जिसकी लम्बाई 2369 किमी थी।
♦ भारत की सबसे बड़ी सुरंग चेनानी-नाशरी सुरंग (9 KM) इसी महामार्ग पर स्थित है। इसके अतिरिक्त जवाहर टनल, काजीगुंड बनिहाल सुरंग आदि भी उल्लेखनीय हैं।

♦ देश में कुल 292 राष्ट्रीय राजमार्ग है जिनकी संख्या 1 से 235 तथा लम्बाई 92,851 कि.मी. है।

♦ राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1 और 2 को सम्मिलित रूप से ग्रैंड ट्रंक रोड (कोलकाता से अमृतसर) कहाँ जाता है जिसे शेरशाह ने बनवाया था।
♦ भारत का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग 47-A (6 KM) है। यह केरल के बेम्बानद झील में स्थित वेलिंगटन द्वीप में है।
♦ सड़को की सर्वाधिक लम्बाई महाराष्ट्र में है।
♦ सड़को की न्यूनतम लम्बाई सिक्किम में है।
♦ सर्वाधिक पक्की सड़को वाला राज्य महाराष्ट्र है।
♦ सर्वाधिक सड़क घनत्व वाला राज्य गोवा है।
♦ न्यूनतम सड़क घनत्व जम्मू कश्मीर की है।
♦ सर्वाधिक कच्ची सड़को वाला राज्य ओडिशा है।
♦ भारत के लक्षद्वीप में सड़के नहीं है।
कुछ प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग
राष्ट्रीय राजमार्ग
कहाँ से कहाँ तक
कुल लम्बाई (किलोमीटर)
NH-1 दिल्ली-पाक सीमा तक 1226 कि.मी.
NH-2 दिल्ली-कोलकत्ता 1490 कि.मी.
NH-3 आगरा-मुम्बई 1161 कि.मी.
NH-4 मुम्बई-चेन्नई 1415 कि.मी.
NH-5 चेन्नई-कोलकत्ता 1610 कि.मी.
NH-6 कोलकत्ता – मुम्बई 1945 कि.मी.
NH-7 वाराणसी – कन्याकुमारी 2369 कि.मी.
NH-8 दिल्ली – जयपुर – मुम्बई 2058 कि.मी.
NH-44 श्रीनगर – कन्याकुमारी 3745 कि.मी.

स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अंतर्गत चारों महानगरों – दिल्ली, मुम्बई, चेन्नई और कोलकाता को जोड़ा जाएगा, जिसकी कुल लम्बाई 5846 कि.मी. होगी।

(Visited 250 times, 1 visits today)

Author: R.S.Rajawat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *